Murder या Suicide ? मार्बल काटने वाली मशीन से मां ने 9 महीने के बच्चे का गला काटा और फिर खुद का गला काट लिया, जांच में जुटी पुलिस

नई दिल्ली। राजस्थान के चूरू के सरदारशहर के झालरिया कुआं वार्ड 15 में एक दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई. जहां पर 2 साल पहले बिहार से दुल्हन बनकर आई एक महिला आरती देवी ने पहले तो अपने 9 महीने के बच्चे मोहन के गले पर इलेक्ट्रिक कटर (मार्बल या लकड़ी काटने में प्रयोग की जाने वाली मशीन ) से वार कर दिया और फिर खुद के गले को कटर से काट लिया.

घटना शाम 6 बजे की बताई जा रही है. घटना के वक्त महिला की सास घर में बनी आटा चक्की चला रही थी और पति और ससुर ओम बन्ना के मंदिर गए हुए थे. पति और ससुर जब घर पर पहुंचे तो देखा कि कमरे का दरवाजा बंद है और अंदर गलेंडर चलने की आवाज आ रही है, जिस पर पास में बनी खिड़की के पास लगे कूलर को हटाकर पति रामलाल जांगिड़ ने जब अंदर गया तो देखा कि महिला और बच्चा लहूलुहान हालत में पड़े हैं बच्चा रो रहा ? था वही महिला बेसुध पड़ी हुई थी.

तुरंत बच्चे लेकर शहर के बीकानेर रोड स्थित एक निजी अस्पताल में लेकर परिजन पहुंचे और वहां से डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद बीकानेर रैफर कर दिया.

घटना की जानकारी 5 घंटे बाद जब वार्ड 16 के पार्षद ताराचंद सैनी को लगी तो उन्होंने इस मामले की जानकारी रात्रि 11 बजे थाना अधिकारी सतपाल विश्नोई और एसआई मानकलाल डूडी को दी. पुलिस जाब्ते के साथ पहुंचे सतपाल विश्नोई ने घटना की बारीकी से जानकारी ली और इस घटना की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी. रात को 12 बजे डीएसपी नरेंद्र कुमार शर्मा भी मौके पर पहुंचे और घटना की बारीकी से जानकारी ली.

परिजनों की मानें तो दोपहर को पति रामलाल जब खाना खा रहा ? था तो दही लाने की बात को लेकर पति रामलाल और पत्नी आरती देवी में तू तू मैं मैं हुई थी. घटना की जानकारी महिला के परिजन जो बिहार रहते हैं उन्हें दे दी गई है. डीएसपी नरेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि मामले को लेकर कुछ भी कह पाना मुश्किल है, पुलिस मामले की बारीकी से जांच में जुटी हुई है. घटना कैसे घटित हुई जांच के बाद ही पता चल पाएगा.

वही जानकारी के अनुसार 9 महीने के मासूम बच्चे को बीकानेर के पीबीएम अस्पताल में भर्ती करवाया गया है जहां पर उसकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है. वहीं पार्षद ताराचंद सैनी ने बताया कि घटना को आत्महत्या या हत्या कहना अभी जल्दबाजी होगी. पुलिस जांच में ही ये पता चल पाएगा कि आखिर घटना कैसे घटित हुई.

वारदात को लेकर कई सवाल खड़े हो रहे है जिसमें से सबसे पहला सवाल ये कि शाम 6 बजे ये वारदात हुई तो रात 11 बजे तक इसकी जानकारी परिजनों ने पुलिस को क्यों नहीं दी. कहीं हत्या को आत्महत्या का नाम तो नहीं दिया जा रहा ? फिलहाल मामले की जांच जारी है और सच्चाई जांच के बाद ही सामने आ पाएगी.

खबरें और भी हैं...
संबंधित

रायपुर में 15 साल की लड़की से युवक ने...

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में 15 साल की नाबालिग बच्ची से बलात्कार का मामला सामने आया है। एक युवक ने नाबालिग लड़की से...

शराब भट्टी में लगा धक्का तो कर दिया जानलेवा...

भिलाई। शहर में अलग-अलग दारू भट्टी में आए दिन विवाद के मामले सामने आते हैं ताजा मामला सुपेला थाना क्षेत्र के देशी दारू भट्टी...

सावधान! भिलाई में खड़ी कार का शीशा तोड़कर चोरी…...

भिलाई। अगर आप भी कार अपने घर के बाहर खड़ी करते हैं तो यह खबर आपके लिए है जी हां भिलाई में खड़ी कार...

भिलाई में महिला के घर में घुस कर छेड़छाड़...

भिलाई। सुपेला में रहने वाली एक महिला के साथ छेड़छाड़ करने वाले आरोपी को सुपेला पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पीड़िता ने आरोप लगाया...

ट्रेंडिंग