CG- 10 लाख का इनामी नक्सली ढेर: पुलिस मुठभेड़ में मारा गया LGS कमांडर ACM नागेश, एक जवान भी शहीद

बस्तर। छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में रविवार (3 मार्च) को हुए पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में मारे गए नक्सली की पहचान जवानों ने कर ली है. डीआरजी और बस्तर फाइटर के जवानों ने 10 लाख रुपए के इनामी नक्सली नागेश उर्फ ठुगे को मार गिराया है. नागेश परतापुर क्षेत्र का एलजीएस कमांडर था और पुलिस ने इस पर 10 लाख रुपए का इनाम घोषित कर रखा था.

लंबे समय से पुलिस को नागेश की तलाश थी. रविवार को छोटी बेठिया क्षेत्र के हिदूर के जंगलों में नक्सलियों की मौजूदगी के बाद जवानों की तरफ से चलाये गए ऑपरेशन में जवानों ने एलजीएस कमांडर नागेश को मार गिराया है.

जवानों ने एलजीएस कमांडर नागेश की तरफ से चलाई जाने वाले अत्याधुनिक हथियार AK- 47 भी घटनास्थल से बरामद किया है. इसके अलावा घटनास्थल से बड़ी मात्रा में नक्सलियों का विस्फोटक सामान, दैनिक सामान, आईईडी बम प्लांट करने में इस्तेमाल किए जाने वाली इलेक्ट्रिक वायर और नक्सलियों की वर्दी भी बरामद की है. हालांकि इस मुठभेड़ में बस्तर फाइटर का एक जवान रमेश कुरेठी शहीद हो गया, जिसे सोमवार (4 मार्च) की सुबह उसके गृहग्राम पखांजूर में अंतिम सलामी दी गई.

बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने क्या कहा?

बस्तर के आईजी सुंदरराज पी ने जानकारी देते हुए बताया कि बस्तर संभाग के अलग-अलग नक्सल प्रभावित जिलों में लगातार नक्सलियों के खिलाफ एंटी नक्सल ऑपरेशन चलाया जा रहा है. जिन इलाकों में बड़े नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना मिल रही है वहां जवानों के टीम की तरफ से संयुक्त रूप से ऑपरेशन चलाया जा रहा है. रविवार की सुबह भी कांकेर जिले के छोटे बेठीयां थाना क्षेत्र के हिदुर के जंगल में बड़े नक्सली लीडरों की मौजूदगी की सूचना पर ऑपरेशन लॉन्च किया गया और बकायदा यहां पर जवानों की टीम ने नक्सलियों से हुई मुठभेड़ में 10 लाख रुपए के इनामी नक्सली को मार गिराया.

इन घटनाओं में शामिल था नक्सली नागेश

यह कांकेर जिला पुलिस के लिए काफी बड़ी उपलब्धि है, मारा गया नक्सली नागेश उर्फ ठुगे सन 2005 से नक्सलियों के संगठन में सक्रिय रहा और नारायणपुर और इसके अलावा कांकेर जिले में हुए कई बड़ी नक्सली वारदातों में शामिल रहा है. इसके अलावा नारायणपुर के धौड़ाई में बस को विस्फोट कर उड़ाने, जिसमे 3 DRG जवानों की शहादत हुई थी. इस घटना का मुख्य आरोपी था.

इसके अलावा बस्तर के अलग-अलग नक्सल प्रभावित जिलों में सक्रिय रहने के साथ महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में भी नागेश सक्रिय रहा और कई बड़ी वारदांतो को अंजाम दे चुका है. एलजीएस कमांडर नागेश के मारे जाने से कांकेर पुलिस के लिए यह बड़ी उपलब्धि है. आईजी ने बताया कि साल 2024 में अब तक हुए पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में 10 लाख के इनामी नक्सली को मार गिराने में पुलिस को पहली सफलता हाथ लगी है.

खबरें और भी हैं...
संबंधित

बिलासपुर लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी तोखन साहू ने भरा...

डेस्क। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय बिलासपुर पहुंचे। सीएम साय बिलासपुर लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी तोखन साहू के नामांकन में शामिल हुए।...

मतदान में हर पल पर रहेगी पैनी नजर: CEO...

रायपुर। लोकसभा निर्वाचन 2024 अंतर्गत प्रदेश में प्रथम चरण में बस्तर लोकसभा क्षेत्र में हो रहे मतदान की पल-पल की गतिविधियों पर नजर रखने...

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को तगड़ा झटका: बस्तर में वोटिंग...

रायपुर। छत्तीसगढ़ में बस्तर में वोटिंग के एक दिन पहले कांग्रेस को तगड़ा झटका लगा है। भारतीय जनता पार्टी की रीति-नीति से प्रभावित होकर...

अनोखी पहल: रायपुर जिले के सात विधानसभा के एक-एक...

रायपुर। आगामी लोकसभा चुनाव-2024 में जिले के सभी विधानसभा के एक-एक बूथ दिव्यांग कर्मचारी संभालंेगे। जिनमें पीठासीन अधिकारी सहित पी-01, पी-02 एवं पी-03 सभी...

ट्रेंडिंग