छत्तीसगढ़ में अब 10 सरकारी मेडिकल काॅलेज: इस मेडिकल कॉलेज को मिली हरी झंडी, 100 सीटों पर इसी सत्र से देंगे एडमिशन, होगी MBBS की पढ़ाई

कोरबा: कोरबा मेडिकल कॉलेज की मान्यता को लेकर शुक्रवार की शाम एनएमसी का आदेश प्रबंधन को प्राप्त हुआ। इसके साथ ही प्रबंधन में खुशी की लहर दौड़ गई। एनएमसी ने एमबीबीएस की 100 सीटों पर प्रवेश के लिए अनुमति दी है।


मेडिकल कॉलेज कोरबा का प्रबंधन एनएमसी से मान्यता के लिए वर्ष 2020 से प्रयास कर रहा था। करीब ढाई साल की कोशिश के बाद प्रबंधन को सफलता मिली। अब कॉलेज प्रबंधन को लेटर ऑफ इंटेंट मिलने का इंतजार है। इसके बादे प्रवेश की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाएगी। हालांकि यह प्रक्रिया केवल औपचारिकता मात्र है। काेरबा काे मिलाकर अब प्रदेश में 10 सरकारी व दाे निजी मेडिकल काॅलेज हाे गए हैं।

दाे वर्ष पहले केंद्र प्रवर्तित याेजना में प्रदेश में काेरबा, महासमुंद व कांकेर में नए मेडिकल काॅलेज शुरू करने की घाेषणा हुई थी। काेरबा के पहले कांकेर व महासमुंद की काॅलेज काे एनएमसी से मान्यता मिल गई। काेरबा के झगरहा स्थित आईटी काॅलेज परिसर स्थित भवन व 25 एकड़ जमीन काे शासन ने मेडिकल काॅलेज के लिए दिया वहीं आवश्यक संसाधन जुटाए गए व डाॅक्टराें की पाेस्टिंग भी की गई। दाे माह पहले एनएमसी ने निरीक्षण के बाद महासमुंद काे मान्यता दी, लेकिन उसके बाद से काेरबा की मान्यता काे लेकर संशय था। सीएम भूपेश बघेल ने काॅलेज का वर्चुअल भूमिपूजन विधानसभा अध्यक्ष डाॅ. चरणदास महंत के साथ किया था।

काेरबा के विधायक व राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल समय-समय पर मेडिकल काॅलेज स्थापना काे लेकर हाेने वाले कार्याें की प्रगति पर नजर रखे थे। उन्हाेंने स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से भी निरंतर इस संबंध में चर्चा की। जयसिंह अग्रवाल ने ही काेरबा प्रवास के दाैरान सीएम भूपेश बघेल के समक्ष घंटाघर मैदान की सार्वजनिक सभा में मेडिकल काॅलेज का नाम स्व. बिसाहू दास महंत की स्मृति में रखने की मांग की, जिस पर सीएम ने घाेषणा की व विगत मार्च में इस संबंध में शासन ने आदेश भी जारी कर दिया। मेडिकल काॅलेज के नए बनने वाले हास्पिटल का नामकरण स्व. प्यारेलाल कंवर के नाम पर हाेगा।

100 एकड़ में होगा मेडिकल कॉलेज का होगा विस्तार
रायपुर, रायगढ़, राजनांदगांव, बिलासपुर, अंबिकापुर, जगदलपुर, कांकेर, महासमुंद के बाद काेरबा में सरकारी मेडिकल काॅलेज हाेगा। इन 9 के अलावा दुर्ग के एक निजी मेडिकल काॅलेज काे भी गत वर्ष राज्य सरकार ने अधिग्रहित किया है। यूं अब प्रदेश में 10 सरकारी मेडिकल काॅलेज हाेंगे। आईटी काॅलेज परिसर के पास ही स्थित करीब 100 एकड़ की जमीन और मेडिकल काॅलेज के लिए चिह्नांकित की गई है ताकि मेडिकल काॅलेज के साथ-साथ डेंटल, नर्सिंग काॅलेज, हास्टल, सहित अन्य सुविधाओं का विस्तार हाे सके।

350 बिस्तर उपलब्ध
मेडिकल कॉलेज खोलने व संचालन के लिए जिला प्रशासन ने डीएमएफ से साढ़े 3 सौ करोड़ का प्रस्ताव दिया था। मेडिकल कॉलेज अस्पताल के लिए इंदिरा गांधी सौ शैया जिला चिकित्सालय के 120 बिस्तर के साथ ही ऊपरी तल पर अतिरिक्त कमरा बनाकर बेड संख्या बढ़ाई है। साथ ही पीपीपी मॉडल से बने ट्रामा सेंटर के 50 बिस्तर को भी इसमें शामिल कर 350 बिस्तर की उपलब्धता बताई गई है। मेडिकल कॉलेज अस्पताल में सर्जरी,व अत्याधुनिक उपकरणों की सुविधा बढ़ाते हुए मरीजों की हर जरूरत के अनुरूप अपग्रेड किया गया।

एमबीबीएस की 100 सीटें
मेडिकल काॅलेज के डीए डाॅ.अविनाश मेश्राम ने कहा कि एनएमसी से सैद्वांतिक सहमति का पत्र मिल गया है। यहां एमबीबीएस की 100 सीट हाेगी जिस पर इसी शैक्षणिक सत्र 2022-2023 से एडमिशन होंगे। एनएमसी ने की स्थाई मान्यता के लिए मेडिकल एसेसमेंट एंड रेटिंग बाेर्ड ने जाे दिशा निर्देश दिए हैं उसे पूरा किया जाएगा। यह मेडिकल काॅलेज पंडित दिनदयाल उपाध्याय मेमाेरियल हेल्थ साइंस एंड आयुष यूनिवर्सिटी छत्तीसगढ़ के अधीन संचालित हाेगा।

काेरबा के विकास के लिए एकजुट प्रयास: राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि मेडिकल काॅलेज शुरु हाेने से बच्चाें काे यहीं एमबीबीएस की पढ़ाई की सुविधा प्राप्त हाेगी। काेरबा की स्वास्थ्य सुविधाओं के विकास में मेडिकल काॅलेज शुरु हाेना एक बड़ी उपलब्धि है। काेरबा के विकास के लिए दलगत राजनीति काे परे रखकर सदैव एकजुट प्रयास किए हैं।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

भिलाई में मॉल के सामने सड़क पर अवैध कब्जाधारियों...

भिलाई। भिलाई के जुनवानी स्थित सूर्या मॉल के सामने अवैध कब्जाधारियों के ऊपर नगर निगम ने आज कार्रवाई की है। निगम को लगातार शिकायत...

शहर में ट्रैफिक नियम तोड़ने वाले ऑटो चालकों के...

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में SSP संतोष सिंह के निर्देश पर ट्रैफिक पुलिस ने नो पार्किंग में खड़ी 248 ऑटो के चालकों पर...

बस्तर के इस जिले में 33 नक्सलियों ने किया...

रायपुर। छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के बीजापुर जिले में 33 नक्सलियों ने हथियार छोड़ सरेंडर किया हैं। बीजापुर जिले में 33 नक्सलियों द्वारा आत्मसमर्पण...

बिलासपुर से जगदलपुर के लिए 1 से शुरू होगी...

रायपुर। छत्तीसगढ़ में फ्लाइट कनेक्टिविटी में विस्तार होने जा रहा है। बिलासपुर से बस्तर के जगदलपुर एयरपोर्ट तक डायरेक्ट फ्लाइट सेवा 1 जून से...

ट्रेंडिंग