Bhilai Times

आज दुर्ग का मौसम सुहाना, संडे हो गया COOL: गरज-चमक के साथ दुर्ग-भिलाई व आसपास इलाकों में बारिश शुरू…अगले 24 घंटे में कैसा रहेगा मौसम, पढ़िए पूर्वानुमान

आज दुर्ग का मौसम सुहाना, संडे हो गया COOL: गरज-चमक के साथ दुर्ग-भिलाई व आसपास इलाकों में बारिश शुरू…अगले 24 घंटे में कैसा रहेगा मौसम, पढ़िए पूर्वानुमान

भिलाई। आज दुर्ग-भिलाई का मौसम सुहाना है। आज संडे भी है। ऐसे में यह मौसम नौकरीपेशा लोगों के लिए गॉर्डन-गॉर्डन है। क्योंकि छुट्‌टी के दिन मानसून की पहली बारिश हो, इसकी खुशी की बात ही अलग है। दरअसल, आज सुबह से ही मौसम सुहाना था। बादल छाए हुए थे। गरज-चमक के साथ बारिश शुरू हो गई है।

वहीं घने काले बादलों ने पूरे प्रदेश में डेरा जमा लिया है। चांपा, जांजगीर और मरवाही में शनिवार को भारी बरसात दर्ज हुई। वहीं बस्तर से लेकर दुर्ग तक के इलाके करीब-करीब सूखे ही रहे। यह वह इलाका है जहां मौसम विभाग ने मानसून सक्रिय होने की घोषणा की है।

रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक शनिवार को प्रदेश के अधिकांश जिलों में हल्की से मध्यम स्तर की बरसात हुई है। सबसे अधिक 108 मिलीमीटर बरसात चांपा में दर्ज की गई। पड़ोसी कस्बे जांजगीर में भी 74.5 मिलीमीटर बरसात हुई है। वहीं मरवाही में 64 मिलीमीटर पानी बरसा है। यह तीनों भारी बरसात की श्रेणी में आए हैं।

रायपुर के तिल्दा में भी 29.3 मिलीमीटर बरसात रिकॉर्ड हुई है। वहीं रायपुर शहर के कुछ हिस्सों में बुंदाबादी की खबर है। बलौदा बाजार में 40.3 मिमी, कसडोल में 23.3 और बिलाईगढ़ में 21.2 मिमी की बरसात रिकॉर्ड की गई है। धमतरी के नगरी में 32.6 मिमी, बालोद में 44.6, डोंडी लोहारा में 32.3 और गुंडरदेही में 28.6 मिमी बरसात बताई जा रही है।

कबीरधाम जिले के पंडरिया में भी 32 मिमी, बिलासपुर में 33 मिमी, मस्तुरी में 34.3 मिमी और तखतपुर में 44.4 मिलीमीटर पानी बरसा है। पेण्ड्रा, मुंगेली और लोरमी में भी 20 मिलीमीटर से अधिक बरसात हुई है। पामगढ़ में 50.3, शिवरीनारायण में 43.9, जैजैपुर में 42.9, मालखरोदा में 36 और डभरा में 32.6 मिमी बरसात रिकॉर्ड हुई है।

रायगढ़ में तमनार सबसे अधिक 36 मिलीमीटर भीगा है। वहीं रायगढ़, सारंगढ़, धर्मजयगढ़, खरसिया और लैलुंगा में भी 20 मिमी अथवा उससे अधिक पानी गिरा है। मौसम विभाग का कहना है कि आधिकारिक तौर पर मानसून अभी दुर्ग तक ही पहुंचा है। प्रदेश के अन्य हिस्सों में हो रही बरसात प्री मानसून की स्थानीय बरसात है।

सरगुजा संभाग के जिलों में भी मध्यम स्तर की बरसात है। वहां कुसमी सामरी में 35 मिमी, जशपुर नगर में 25.4मिमी और बगीचा में 30.2 मिमी बरसात रिकॉर्ड हुआ है। भैयाथान, सूरजपुर, कुनकरी, प्रेमनगर, प्रतापपुर, दुलदुला, रामानुजनगर और सीतापुर में भी ठीकठाक बरसात हुई है।

बस्तर संभाग के जिलों में मानसून सबसे पहले पहुंचा। वहां के अधिकांश हिस्सो में शनिवार को बरसात नहीं हुई। बीजापुर के नरहरपुर में सबसे अधिक 18.5 मिलीमीटर पानी गिरा है। उसके बाद 16.5 मिमी के साथ कांकेर का चारामा है। कोण्डागांव के फरसगांव में 8.3 मिमी, केसकाल में एक मिमी, बड़े राजपुर में 0.7 मिमी और दंतेवाड़ा के कटेकल्याण में 3.4 मिमी बरसात ही हो पाई है। बस्तर और सुकमा जिले पूरी तरह सूखे रहे हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक एक द्रोणिका उत्तर राजस्थान से मणिपुर तक स्थित है। इसके प्रभाव से प्रदेश में 19 जून को अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम होने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ बिजली गिरने तथा अंधड़ चलने की संभावना भी बन रही है। कहा जा रहा है, अंधड़ के समय हवा की रफ्तार 40 किलोमीटर प्रति घंटा तक हो सकती है।

पिछले दो दिन से अधिकांश हिस्सों में छिटपुट बरसात की वजह से दिन और रात के तापमान में उल्लेखनीय गिरावट आई है। बिलासपुर और पेण्ड्रा रोड में तो दिन का तापमान सामान्य से 6 डिग्री सेल्सियस तक नीचे पहुंच गया है।

मौसम विभाग ने शनिवार को बिलासपुर का अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस और पेण्ड्रा रोड का 29 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया है। अंबिकापुर का अधिकतम तापमान 29.7 डिग्री सेल्सियस है जो सामान्य से पांच डिग्री कम है।

33.6 मापन के साथ यह दुर्ग में 4 डिग्री तक कम है। वहीं रायपुर में 35.6 डिग्री सेल्सियस तापमान अभी सामान्य स्थिति में है। शनिवार को रायपुर प्रदेश का सबसे गर्म स्थान रहा


Related Articles