गौ हत्या पर शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद महाराज की सड़क पर लड़ाई: भिलाई में 10 मिनट धरने पर बैठे… गौमाता को राष्ट्रमाता का दर्जा देने की मांग; विधायक देवेंद्र के हाउसिंग बोर्ड और जामुल के उपाध्याय निवास भी पहुंचे

दुर्ग-भिलाई। गौ हत्या के विरोध और गौमाता को राष्ट्रमाता का दर्जा दिलाने भिलाई की सड़क पर शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद 10 मिनट धरने पर बैठे। शंकराचार्य ने रविवार को सुबह 10 बजकर 10 मिनट पर 10 मिनट के लिए संकेत स्वरूप धरना दिया। उन्होंने सभी देशवासियों से अपने-अपने स्थानों पर रहते हुए इसके लिए 10 मिनट के सांकेतिक भारत बंद का आह्वान भी किया था। शंकराचार्य के मीडिया प्रभारी अशोक साहू ने बताया पूज्य गुरुदेव स्वामिश्री: अविमुक्तेश्वरानंद: सरस्वती जी महाराज अपने आठ दिवसीय प्रवास पर छत्तीसगढ़ में है। इस प्रवास के दौरान उन्होंने प्रदेश के विभिन्न जिलों में आयोजित धार्मिक कार्यक्रमों में पहुँचकर गौमाता को राष्ट्रमाता घोषित कराने चल रहे आंदोलन के लिए अपने-अपने स्थानों में रहकर सनातनियों से समर्थन मांगा है। भिलाई के हॉउसिं बोर्ड स्थित विधायक देवेंद्र यादव के निवास में भी शंकराचार्य महाराज का आगमन हुआ।

गौमाता को राष्ट्रमाता का दर्जा दिलाने चारों शंकराचार्यों एक मत
बता दें पूर्व में ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य द्वारा वृंदावन में गौ संसद का आयोजन कर गौमाता राष्ट्रमाता आंदोलन की शुरुआत की गई थी। फिर दिल्ली के एक सभागार में त्रिदिवसीय गौ संसद का आयोजन कर इससे संबंधित मांगपत्र मीडिया के समक्ष जारी किया गया था। इस आंदोलन में चारों पीठो के शंकराचार्यों की सहमति है। धरना प्रदर्शन में मुख्यरूप से ज्योतिर्मठ के सीईओ चंद्रप्रकाश उपाध्याय, ब्रह्मचारी डॉ इंदुभवानंद, विधायक देवेंद्र यादव, आईपी मिश्रा, धर्मेन्द्र यादव सहित गौभक्त उपस्थिति रहे।

जामुल में पहली बार हुआ आगमन
शंकराचार्य स्वामिश्री: अविमुक्तेश्वरानंन्द: सरस्वती 1008 महाराज का जामुल नगर में प्रथम आगमन हुआ,विभिन्न स्थानों को फुल मालाओं से सजाकर गाजे बाजे के साथ फटाके फोड़ शंकराचार्य का स्वागत किया गया, पश्चात् स्वस्ति वाचन कर शंख व घंटी के ध्वनी से गुंजायमान जामुल के उपाध्याय निवास (ईश्वर उपाध्याय) में शंकराचार्य जी का पदार्पण हुआ,जहां निवास (ईश्वर उपाध्याय) में शंकराचार्य जी के आगमन पश्चात् उपाध्याय परिवार द्वारा पादुका पुजन किया गया, शंकराचार्य जी के दर्शन के लिए बड़ी संख्या में धर्मानुरागीजन एकत्रित हुए, जिन्हें पुजन व दर्शन पश्चात् प्रसादी वितरण किया गया।

जामुल में 1 हफ्ते की भीतर पहुंचे दूसरे शंकराचार्य
यह भी ज्ञात हो कि जामुल नगर में पहली बार एक सप्ताह के भीतर दूसरे शंकराचार्य का आगमन हुआ है, इससे पूर्व जामुल नगर में कभी किसी भी शंकराचार्य जी का आगमन नहीं हुआ था, 2 मार्च 2024 शनिवार को विशाल हिंदू राष्ट्र धर्म सभा के लिए धर्मध्वजरक्षक परमधर्माधीश सर्वोच्च गुरु अनंत विभूषित ऋग्वेदीय पूर्वाम्नाय गोवर्धनमठ-पुरीपीठाधीश्वर परमपूजनीय श्रीमज्जग्दगुरू शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती महाराज का तीन दिवसीय जामुल के उपाध्याय निवास (ईश्वर उपाध्याय) में मंगलमय आगमन हुआ था, जहां दर्शन, दीक्षा, संगोष्ठी व हिन्दू राष्ट्रधर्म धार्मसभा को शंकराचार्य ने संबोधित किया था। ईश्वर उपाध्याय ने कहा कि “एक सप्ताह के भीतर दो शंकराचार्य भगवान के जामुल आगमन को विद्वान अत्यधिक महत्वपूर्ण मान रहे हैं, जिसका मंगलमय परिणाम जल्द ही सभी सनातनीयों को प्राप्त होगा ,गौ रक्षा, धर्मान्तरण पर रोक, घर वापसी व शास्त्रों की शिक्षा आदि में तीव्र गति से कार्य होंगे।”

खबरें और भी हैं...
संबंधित

MLA गजेंद्र यादव ने कातुलबोर्ड के नागरिकों संग की...

दुर्ग। कातुलबोर्ड के निवासियों ने विधायक गजेंद्र यादव संग चाय पे चर्चा किये। विकसित भारत, शासन की योजनाओं और नागरिक सुविधाओं को लेकर चर्चा...

पूर्व CM की उपसचिव सौम्या चौरसिया की जमानत याचिका...

डेस्क। छत्तीसगढ़ में कोयला घोटाला का मामला में जेल में बंद सौम्या चौरसिया की मुश्किलें कम होने नाम नहीं ले रही है। सुप्रीम कोर्ट...

CG – महिला से छेड़छाड़ का लगा आरोप… युवक...

महिला से छेड़छाड़ का लगा आरोप क्राइम डेस्क। छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले में हत्या का मामला सामने आया है। यह मामला जिले के कुकदूर थाना...

छत्तीसगढ़ में 29 नक्सली ढेर: शंकर राव सहित कई...

कांकेर। छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव के बीच सुरक्षा बालों और नक्सलियों के बीच बड़ी मुठभेड़ की खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा...

ट्रेंडिंग