Bhilai Times

स्वयंसिद्धा ने बढ़ाई हरेली की हरियाली: ट्रैफिक का जिम्मा संभाल रहे पुलिस जवान से लेकर खेत में रोपा लगाने वाली महिलाओं को स्वयंसिद्धा की टीम ने कहा-थैंक्यू, आपकी वजह से ये हरियाली है, कइयों को गिफ्ट भी दिए

स्वयंसिद्धा ने बढ़ाई हरेली की हरियाली: ट्रैफिक का जिम्मा संभाल रहे पुलिस जवान से लेकर खेत में रोपा लगाने वाली महिलाओं को स्वयंसिद्धा की टीम ने कहा-थैंक्यू, आपकी वजह से ये हरियाली है, कइयों को गिफ्ट भी दिए

-“धन्यवाद सफाई मित्र आप इस बारिश में काम कर रहे हैं इस वजह से हरियाली के साथ सफाई है”
-” जोहार दीदी तुम्हारे बोए धान हमारी जिंदगी में खुशबू भर रहे है”
-” धन्यवाद अम्मा,तुम्हारी मदद ना मिलती तो मैं घर के काम निपटा के अपने सामाजिक काम में कैसे जाती”
-“ट्रैफिक पुलिस वाले भैया! आपकी वजह से इस बरसात में भी यातायात सुचारू रूप से चल रहा है”

स्वयंसिद्धा ‘ए मिशन विद ए विजन’ एनजीओ ने हरेली के त्यौहार और सावन तीज का एक अनूठा आयोजन किया और इस अभियान ने पुरानी सारी परंपराओं को बदल के रख दिया। जहां पूरे शहर में महिलाएं फैशन शो और रैंप वॉक में जुटी हुई है।

वही ‘स्वयंसिद्धा’ के सदस्यों ने अपने सामाजिक मददगारों के साथ हरेली का त्यौहार मनाया ,उन्हें धन्यवाद दिया और उनके कार्य को सराहा।
हरेली पर ‘स्वयंसिद्धा’ ने किया एक अनूठा आयोजन जिसमें सदस्यों ने सामाजिक मदद करने वाले गृह सेवक हो या फिर फल सब्जी की रेहड़ी लगाने वाले,मजदूरी करने वाले कामगारों,धान बोने वाले किसान,सफाई मित्र,नर्स, संस्थानों चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों इन सभी से मिलकर इनके कार्य को सराहा,वहीं से सामान खरीदा साथ ही इन्हें धन्यवाद दिया कि आप लोग इस बरसात में भी अपना कार्य जारी रखते हैं जिससे हमारा सामाजिक जीवन निर्बाध रूप से चलता रहता है।

इस अभियान के अंतर्गत इन्होंने हमारे सामाजिक मददगारों के साथ तस्वीरें ली व उन्हें ग्रुप में प्रेषित किया जिसमें से मॉनसून क्वीन चुनी गई।
संस्थापक एवं निदेशक डॉ सोनाली चक्रवर्ती ने बताया कि-” जब हम तेज बरसात में अपने घरों में पकौड़े खाते हैं व बरसात का आनंद लेते हैं तब एक जमात ऐसी है कि जिन्हें बाहर निकलना ही पड़ता है ।सड़कों पर काम करे बगैर उनके घर में रोटी नही बन सकती। हमने ऐसे कामगारों का धन्यवाद करने का सोचा। जिन महिलाओं ने कामगारों के साथ समय बिताया उन्हें पुरस्कृत करने किया जाएगा। जिससे महिलाएं अपने आसपास की समाज से जुड़ सकें”



स्वयंसिद्धा हमेशा से गृहणियों को घर से बाहर निकल के सामाजिक कार्य करने को प्रोत्साहित करती है एवं उनकी प्रतिभा को मंच व सम्मान देने का कार्य गत 15 वर्षों से लगातार जारी है।


इस प्रतियोगिता के निर्णायक श्रीमती ममता इंगाले ,सीनियर फैशन कंसलटेंट, इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी,वडोदरा
व मृणालिनी अग्रवाल कॉस्ट्यूम ज्वेलरी ‘कोमोली’ ब्रांड की ओनर थी।

इस अभियान में पूरे देश से महिलाएं जुड़ी।न केवल दुर्ग, भिलाई, राजनांदगांव, रायपुर,रायगढ़ मुंगेली से महिलाओं ने इस अभियान में भाग लिया बल्कि जमशेदपुर, केरल, कर्नाटक, राजस्थान, गुजरात,उड़ीसा से भी महिलाओं ने इस अभियान में भाग लिया और अपने मददगारों को कहा। कि
“हरेली की हरियाली आपसे है”

प्रतियोगिता के नतीजे

प्रथम लक्ष्मी साहू,

द्वितीय-अंजू चंदनिहा, व सुधा चंद्रन

तृतीय- रीमा देब व
होइमोन्ती कुंडू

विशेष पुरस्कार- डॉ पूर्णिमा लाल ,अंजना सेनगुप्ता व अलका शर्मा

Related Articles