झीरम घाटी नक्सल अटैक जुडिशल जांच आयोग का फिर से बढ़ा टेन्योर… राज्य सरकार ने राजपत्र में प्रकाशित किया नोटिफिकेशन

रायपुर। 25 मई 2023 ये वो तारीख है जो छत्तीसगढ़ की इतिहास में काला दिन साबित हुआ। इस दिन कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा पर बस्‍तर की झीरम घाटी में एक बड़ा नक्सली हमले हुआ था । जिसमें कांग्रेस के दिग्गज नेताओं समेत 31 लोग की जान गई थी। इसमें कांग्रेस के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार पटेल, उनके पुत्र दिनेश पटेल, दिग्गज नेता महेंद्र कर्मा, उदय मुदलियार जैसे नाम भी शामिल थे। इस हमले में पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल गंभीर रूप से घायल हुए थे, जिनका बाद में इलाज के दौरान निधन हो गया। तत्‍कालीन सरकार ने इस घटना की जांच के लिए न्यायमूर्ति प्रशांत कुमार मिश्रा की अध्‍यक्षता में एक सदस्‍यीय जांच आयोग का गठन किया था। अब ताजा अपडेट ये है कि, झीरम न्‍यायिक जांच आयोग का कार्यकाल सरकार ने छह महीने के लिए बढ़ा दिया है।

आयोग का कार्यकाल 10 अगस्‍त को समाप्‍त हो रहा था। इसे देखते हुए सरकार ने आयोग का कार्यकाल 11 अगस्‍त से 10 फरवरी 2024 तक के लिए बढ़ा दिया है। इससे पहले इसी वर्ष फरवरी में आयोग का कार्यकाल बढ़ाया गया था। इस संबंध में सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। 2018 में प्रदेश में सत्‍ता परिवर्तन के बाद मौजूदा कांग्रेस सरकार ने आयोग का पुनर्गठन किया। इसमें छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति सतीश के अग्निहोत्री को आयोग का अध्यक्ष और न्यायमूर्ति जी. मिन्हाजुद्दीन आयोग के सदस्य बनाया गया है।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

12 नक्सली ढेर: एंटी नक्सल यूनिट C 60 ने...

रायपुर। छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र सीमा पर सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच हुए मुठभेड़ में बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने 12 नक्सलियों को मार...

CM साय ने की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह...

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने आज केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से उनके निवास पर मुलाकात की। इस महत्वपूर्ण बैठक में मुख्यमंत्री...

फाइनेंस मिनिस्टर ओ.पी. चौधरी ने किया संस्कृति बोध माला...

रायपुर। वित्त मंत्री ओ. पी. चौधरी आज यहां रोहिणीपुरम में विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान से सम्बद्ध सरस्वती शिक्षा संस्थान छत्तीसगढ़ रायपुर में...

BSP में हादसों को रोकने दिया जा रहा सुरक्षा...

दुर्ग। कलेक्टर ऋचा प्रकाश चौधरी के निर्देशानुसार जिले के भिलाई इस्पात संयंत्र के अंतर्गत संचालित विभिन्न कारखानों में कार्यरत नियमित एवं ठेका श्रमिकों को...

ट्रेंडिंग