Bhilai Times

ब्रेकिंग: देश को 21 जुलाई को मिलेगा नया राष्ट्रपति: 18 जुलाई को होगा राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान, चुनाव आयोग ने जारी किया शेड्यूल

ब्रेकिंग: देश को 21 जुलाई को मिलेगा नया राष्ट्रपति: 18 जुलाई को होगा राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान, चुनाव आयोग ने जारी किया शेड्यूल

नई दिल्ली। भारत निर्वाचन आयोग ने कहा कि भारत के अगले राष्ट्रपति को चुनने के लिए चुनाव 18 जुलाई को होगा, और उसके परिणाम 21 जुलाई को आएंगे। चुनाव आयोग ने बताया कि राष्ट्रपति का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है और उस दिन से पहले अगले राष्ट्रपति के लिए चुनाव होना है।

नए राष्ट्रपति को 25 जुलाई तक शपथ लेनी है। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि राष्ट्रपति चुनाव 2022 में कुल 4,809 मतदाता मतदान करेंगे। कोई भी राजनीतिक दल अपने सदस्यों को व्हिप जारी नहीं जारी कर सकता है। चुनाव आयोग ने बताया कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए विशेष इंक वाला पेन दिया जाएगा। इस पेन से सांसदों को राष्ट्रपति चुनाव के लिए 1,2,3 लिखकर अपनी पसंद बतानी है।

आपको बता दें कि राष्ट्रपति का चुनाव निर्वाचक मंडल के सदस्यों द्वारा किया जाता है जिसमें संसद के दोनों सदनों के निर्वाचित सदस्य होते हैं, और देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी सहित सभी राज्यों की विधानसभाओं के निर्वाचित सदस्य होते हैं।

राष्ट्रपति चुनाव 2022 का पूरा कार्यक्रम

  • चुनाव की अधिसूचना – 15 जून 2022
  • नामांकन की अंतिम डेट – 29 जून 2022
  • नामांकन पत्रों की जांच की अंतिम डेट – 30 जून 2022
  • नाम वापस लेने की अंतिम डेट – 2 जुलाई 2022
  • राष्ट्रपति चुनाव 2022 डेट – 18 जुलाई 2022
  • मतगणना – 21 जुलाई 2022
  • नए राष्ट्रपति शपथ – 25 जुलाई 2022

28 से अधिक देशों का दौरा कर चुके हैं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भारत के 14वें राष्ट्रपति हैं और उनका कार्यकाल 24 जुलाई, 2022 को पूरा हो रहा है। वे 14 जुलाई 2017 से राष्ट्रपति के रूप में कार्यरत हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार राष्ट्रपति कोविंद ने अब तक 28 से अधिक देशों का दौरा किया है। इसके साथ ही उन्हें 6 देशों ने सर्वोच्च सम्मान से सम्मानित किया है।

भाजपा के पास 48.9% वोट
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार राष्ट्रपति चुनाव के लिए सरकार अपने सहयोगियों और सहयोगी दलों के साथ आम सहमति चाहती है, ताकि अगले राष्ट्रपति का चुनाव आसानी से हो जाए। रिपोर्ट के अनुसार एनडीए के पास सभी सांसदों और विधायकों के 48.9% वोट हैं। भाजपा राष्ट्रपति के अपने उम्मीदवार का समर्थन करने के लिए बीजू जनता दल और वाईएसआर कांग्रेस से समर्थन लेने के लिए संपर्क कर रही है।


Related Articles