दुर्ग में लिव इन रिलेशनशिप में रह रहे युवक की शिवनाथ में मिली लाश: सुसाइड नोट के साथ सड़ी-गली हालत में शव देखकर पुलिस के उड़े होश… घरवालों ने जताई हत्या की आशंका

दुर्ग। दुर्ग में लिव इन रिलेशनशिप में रह रहे युवक ने सुसाइड कर लिया है। युवक की सड़ी-गली लाश शिवनाथ नदी में मिली थी। युवक का चेहरा पुरे तरीके से कला पढ़ गया था और शरीर गलना शुरू हो गया था। मृतक की पहचान चंद्रशेखर सोनी उम्र 32 साल के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि, छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले से आकर दुर्ग में 4 सालों से लिव इन में रह रहे युवक ने अपनी प्रेमिका को छोड़कर खुदकुशी कर ली। मरने से पहले 19 जुलाई की रात उसने अपनी प्रेमिका से आखिरी बार फोन पर बात की। उसके बाद से उसका मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा था। तीन दिन बाद उसका शव दुर्ग के जेवरा सिरसा चौकी अंतर्गत डांडेसरा गांव के पास शिवनाथ नदी में मिला। युवक की जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उसने अपनी जिंदगी से परेशान होकर आत्महत्या करने की बात लिखी है।

दुर्ग पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, वो आर्य शिशु मंदिर के पास बुधवारी बाजार कोरबा का रहने वाला था। चार साल से दुर्ग के शंकर नगर आमा पारा में अपनी प्रेमिका सावित्री देवांगन के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रह रहा था। सावित्री भी कोरबा की रहने वाली है। चंद्रशेखर दुर्ग ऑप्टिकल में काम करता था। बताया जा रहा है कि पिछले कुछ दिनों से वो अपने परिवार को लेकर काफी दुखी था। 19 जुलाई को वो बाइक लेकर घर से निकला। इसके बाद दुर्ग बाइपास में शिवनाथ नदी पर बने ब्रिज के पास पहुंचा। बाइक को ठाकुर होटल के पास रखा और ब्रिज से नदी में छलांग लगा दिया। तीन दिन बाद शुक्रवार की शाम जेवरा सिरसा के डांडेसरा गांव के पास शिवनाथ नदी से उसकी लाश मिली।

लाश को निकालने के बाद पुलिस ने उसके कपड़ों की तलाशी ली तो उसमें से सुसाइड नोट मिला। शव देखकर पुलिस के होश उड़े गए थे। जिसमें उसने लिखा था कि वो अपनी जिंदगी से बहुत ज्यादा परेशान हो गया है और आत्महत्या कर रहा है। इसके लिए वो खुद जिम्मेदार होगा। साथ ही उसने सावित्री का मोबाइल नंबर भी लिखा था। चंद्रशेखर ने सुसाइड नोट में अपनी प्रेमका का मोबाइल नंबर भी लिखा था। उस नंबर पर पुलिस ने फोन करके प्रेमिका को बुलवाया। इसके बाद उसने शव की पहचान चंद्रशेखर सोनी के रूप में की। पुलिस ने पंचनामा कार्रवाई के बाद शव का पोस्टमार्टम कराया और उसे परिवार वालों को सौंप दिया है। खुदकुशी करने से एक महीने पहले चंद्रशेखर ने अपनी प्रेमिका यह कहते हुए कोरबा भेज दिया था कि वहां उसकी नौकरी एचएससीएल कंपनी में लग गई है। अब वो उसके साथ कोरबा में ही रहेगा।

19 जुलाई की देर रात तक उसने सावित्री से फोन पर बात भी की थी। इसके बाद 20 जुलाई की सुबह जब सावित्री ने उसे फोन किया तो उसका मोबाइल स्विच ऑफ मिला। लगातार प्रयास करने के बाद भी जब चंद्रशेखर से संपर्क नहीं हो सका तो सावित्री शुक्रवार को कोरबा से दुर्ग आई। वो जब चश्मा दुकान गई तो वहां भी जानकारी नहीं मिली। इसी दौरान जेवरा सिरसा चौकी पुलिस ने उसे फोन किया कि डांडेसरा में नदी में किसी युवक की लाश मिली है। मिली जानकारी के अनुसार, इस मामले में लड़के के घर वाले चंद्रशेकर की हत्या का कयास लगा रहे है। परिवार वाले सावित्री देवांगन के ऊपर शक जाता रहे है। चर्चा ये भी है कि, मृतक लड़का शादी शुदा महिला और दो बच्चों की मां के साथ दुर्ग में रह रहा था। बीच में दोनों के मध्य विवाद की स्थिति बनने पर दुर्ग में ही दोनों अलग रह रहे थे।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

12 नक्सली ढेर: एंटी नक्सल यूनिट C 60 ने...

रायपुर। छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र सीमा पर सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच हुए मुठभेड़ में बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने 12 नक्सलियों को मार...

CM साय ने की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह...

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने आज केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से उनके निवास पर मुलाकात की। इस महत्वपूर्ण बैठक में मुख्यमंत्री...

फाइनेंस मिनिस्टर ओ.पी. चौधरी ने किया संस्कृति बोध माला...

रायपुर। वित्त मंत्री ओ. पी. चौधरी आज यहां रोहिणीपुरम में विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान से सम्बद्ध सरस्वती शिक्षा संस्थान छत्तीसगढ़ रायपुर में...

BSP में हादसों को रोकने दिया जा रहा सुरक्षा...

दुर्ग। कलेक्टर ऋचा प्रकाश चौधरी के निर्देशानुसार जिले के भिलाई इस्पात संयंत्र के अंतर्गत संचालित विभिन्न कारखानों में कार्यरत नियमित एवं ठेका श्रमिकों को...

ट्रेंडिंग