Bhilai Times

VIDEO: हिंदू युवा मंच के कार्यकर्ताओं पर गुंडागर्दी का आरोप: पार्षद, अध्यक्ष समेत 7 लोगों के खिलाफ FIR…दुर्ग पुलिस कर रही VIDEO की जांच

VIDEO: हिंदू युवा मंच के कार्यकर्ताओं पर गुंडागर्दी का आरोप: पार्षद, अध्यक्ष समेत 7 लोगों के खिलाफ FIR…दुर्ग पुलिस कर रही VIDEO की जांच

भिलाई। दुर्ग कोतवाली थाने में 7 लोगों के खिलाफ आज एक मामला पंजीबद्ध हुआ। जिनके खिलाफ मामला दर्ज हुआ है, वो सभी हिंदू युवा मंच के पदाधिकारी व कार्यकर्ता है। इनमें से एक निर्दलीय पार्षद भी है।

इन सभी पर आरोप है कि उन्होंने दबंगई दिखाते हुए मारपीट की। जिनके खिलाफ आरोप है, उन सभी ने आज पुलिस अधीक्षक से मुलाकात की। उन्होंने अपना पक्ष रखा और उन पर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए एकपक्षीय कार्रवाई की बात कही है।

पूरा मामला क्या है, विस्तार से बताते हैं, जैसा कि थाने में FIR लिखा है
पुलिस ने इस मामले में 7 आरोपियों के खिलाफ धारा-452, 143, 294, 506 के तहत जुर्म दर्ज किया है। फिलहाल पुलिस ने किसी की गिरफ्तारी नहीं की है। दुर्ग कोतवाली पुलिस ने बताया कि तमेरपारा दुर्ग निवासी अनुपम ताम्रकर 26 मार्च की शाम 7 बजे बाइक में पेट्रोल डलवाकर घर आ रहा था।

इस दौरान रास्ते में लालचंद किराना स्टोर्स से 40-50 हिंदु युवा मंच के पदाधिकारी चंदा लेकर निकल रहे थे। इस दौरान दुकान के सामने भीड़ के चलते जाम हो गया। पीड़ित की बाइक हिंदु युवां मंच के कार्यकर्ता शिवम के बाइक से टकरा गई थी। जिसे लेकर पीड़ित को घेर कर गाली गलौज करना शुरु कर दिया।

इसके अलावा युवकों ने पीड़ित की चाबी, मोबाइल निकाल लिए थे बाद में उसे लौटा दिया। इसके कुछ देर बाद मंच अध्यक्ष गोविंद नायडू तमेर पारा आकर मुलाकात किया और हरनाबाधा मुक्तिधाम दुर्ग के पास शिवम सिंह के साथ सुलह कराने लेकर गया। जहां शिवम उर्फ आदित्य सिंह समेत 3 लोग मौजूद थे।

सुलह होने के बाद पीड़ित अपने काम में जुट गया फिर देर रात 9.30 बजे शिवम सिंह, अभिषेक शर्मा, राजा देवांगन, लालू जैन,गोविंदराज नायडू, अरुण सिंह, राजेश शर्मा समेत सैकड़ों की संख्या में युवक हाथ में लाठी, रॉड, तलवार लेकर मोहल्ले में पहुंचे थे। पीड़ित के नहीं मिलने पर सारे युवक उसके मकान में घूसकर दबंगई करने लगे।

इस मामले में हिंदू युवा मंच के पदाधिकारी व पार्षद अरूण सिंह का कहना है कि, उनके लड़कों ने किसी के साथ मारपीट नहीं की है। जबरदस्ती विवाद को बढ़ाया गया है।

लड़के भीड़ की शक्ल में गए थे। इसका वीडियो भी है। वीडियो में साफ-साफ देख सकते हैं कि किसी ने भी गाली-गलौज नहीं की है। कुछ उपद्रीव लोग हमें बदनाम करने के लिए ये साजिश रच रहे हैं। ये ठीक नहीं है।


Related Articles