हमास आतंकवादियों का सत्यनारायण अग्रवाल ने किया विरोध, कहा- हमास आतंकियों का इसराइल पर हमला अमानवीयता की पराकाष्ठा, देश की सबसे पुरानी पार्टी द्वारा हमास को समर्थन देना शर्मनाक

भिलाई। लघु उद्योग भारती के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सत्यनारायण अग्रवाल ने भिलाई में आहूत एक बैठक में हमास आतंकवादियों द्वारा इजरायल पर हमला करके जो भी कुकृत्य किए हैं उपस्थित सदस्यों ने विरोध प्रकट किया। सत्यनारायण अग्रवाल ने कहा कि पूरी दुनिया अवाक है, स्तब्ध है लोग यह सोचकर और देखकर हैरान हैं कि ऐसे भी लोग हो सकते हैं जो इसराइल के साधारण नागरिकों, महिलाओं एवं बच्चों की हत्या कर सकते हैं, जो बच्चों को उनके अभिभावकों के सामने मार सकते हैं, जो आम नागरिकों को बिना किसी कारण मौत के घाट उतार सकते हैं लड़कियों का अपहरण कर बर्बरता की सारी सीमाएं लॉघ दी। भारतवर्ष के नागरिकों में आम जनों में इस बात का काफी गुस्सा एवं क्रोध है जिसका पुरजोर विरोध अपना देश भारतवर्ष ने पुरजोर ढंग से किया।

मध्य युगीन बर्बरता आज के समय में कर सकने वाले लोग जो अपने को मानव या इंसान कहते हैं पर लानत है परन्तु जहां आतंकवाद के शिकार रहे भारत की आम जनता इन हमलों के विरोध में सोशल मीडिया पर तथा अन्य माध्यमों से अपना विरोध व्यक्त कर रही थी, लोग इस संकट की घड़ी में यही प्रार्थना कर रहे थे कि कम से कम लोग इस हमले में मारे गए हों, उसी समय भारत में बहुत बड़ा वर्ग ऐसा था, जिसके लिए आम नागरिकों पर हुआ यह हमला कोई हमला न होकर एक प्रतिरोध था ।

भारत में रहने वाली और खुद को देश की सबसे पुरानी पार्टी होने का दंभ भरने वाली पार्टी ने इस निंदनीय घटना पर जिस प्रकार की प्रतिक्रिया दी है वह शर्मनाक है, इन सारे लोगों की संवेदनहीनता और बेशर्मी की पराकाष्ठा तो तब सामने आई जब इजराइल में महिला का निर्वस्त्र शरीर घुमाया गया, वह जर्मनी की शानी लौक का शरीर था, जो हमले के समय वहां पर पार्टी कर रही थी। बाकी सदस्यों ने भी अपने विरोध को प्रकट करते हुए किसी देश की शांति व्यवस्था उन्नति एवं आर्थिक खुशहाली के लिए आतंकवाद का खात्मा परम आवश्यक है विशेष कर तब जब इस प्रकार के बर्बरतापूर्ण कार्रवाई करने वाले लोग समाज में मौजूद हो क्योंकि आतंकवाद को लेकर भारतवर्ष का रुख हमेशा सख्त रहा है एवं हमास ने जिस प्रकार से इसराइल पर हमला कर आम लोगों की जान ली बंधक बनाया वह एक आतंकवादी एवं अमानवीय कृत है।

आतंकवाद जैसे घृणित तथा ज्वलंत समस्या एवं मुद्दे पर जन साझेदारी एवं सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर समाज को एक साथ चलना होगा एवं इस प्रकार के किसी भी देश में हो रहे आतंकवाद के हमले को का विरोध करना एवं उसकी निंदा करना अति आवश्यक है। अतः हम सभी उद्यमियों को उसे प्रकार के शक्तियों पार्टियों एवं अन्य संगठनों को जो आतंकवाद का खुला समर्थन कर तुष्टिकरण की नीति पर चलने का प्रयास करती है विरोध करना होगा एवं रोकना हो अन्य संगठनों को जो आतंकवाद होगा।
सभा के अंत में सत्यनारायण अग्रवाल ने संबोधित करते हुए यह आह्वान किया कि कुटीर उद्यमियों महिला उद्यमी मित्रों एवं अन्य आर्थिक जगत से जुड़े तथा सामान्य नागरिकों को भी उन सब लोगों से सावधान रहने की आवश्यकता है जिन्होंने इस कठिन समय में आतंकवाद को सही ठहरने की कोशिश की है एवं हमास आतंकियों का विरोध प्रकट करने के बजाय समर्थन की है।

बैठक में अन्य लोगों के अतिरिक्त राजेश अग्रवाल पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष लघु उद्योग भारती सर्विस इकाई अध्यक्ष सुरेंद्र पाठक दुर्गा इकाई पूर्व अध्यक्ष संजय चौबे वरिष्ठ सदस्य पवन बड़जातिया दिलीप अग्रवाल अनूप अग्रवाल एवं बड़ी संख्या में अन्य उद्यमी तथा व्यापारी बंधु तथा अन्य सदस्यों की उपस्थिति थी।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

Samvidhaan Hatya Diwas: गृह मंत्री अमित शाह ने किया...

डेस्क। देश में अब हर साल 25 जून को 'संविधान हत्या दिवस' मनाया जाएगा। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने 25 जून को 'संविधान...

CG – 48 घंटों में पुलिस ने सुलझाई अंधे...

कोरबा। युवक के शव को टुकड़ों में काटकर पिट्ठू बैग और बोरी में भरकर बांध में फेंकने के मामले की जांच कर रही पुलिस...

मुख्यमंत्री साय ने रिमोट बटन दबाकर मितानिनों के खाते...

रायपुर। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने विकसित छत्तीसगढ़ की संकल्पना पर काम करना शुरू कर दिया है और इसकी शुरूआत स्वस्थ छत्तीसगढ़ की बात के...

मंत्री ओपी के साथ 16वें वित्त आयोग के प्रतिनिधि...

रायपुर। 16वें वित्त आयोग के अध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया के नेतृत्व में सदस्यों के प्रतिनिधिमंडल ने नालंदा परिसर की लाईब्रेरी का देर रात पहुंचकर अवलोकन...

ट्रेंडिंग