भिलाई में मेडिकल साइंस का शानदार कारनामा: एक्सीडेंट में ट्रक ने कुचले दोनों पैर, डॉक्टरों ने दी पैर काटने की नसीहत, SBS हॉस्पिटल भिलाई में इलाज के बाद अब मरीज फिट एंड फाइन; जानिए

भिलाई। एक युवक का एक्सीडेंट में दोनों पैर खराब हो गया था। इस मुश्किल मेडिकल केस का सफलता पूर्वक इलाज SBS हॉस्पिटल भिलाई में हुआ है। यह केस उम्दा के रहने वाले डीकेंद्र का है। जिसकी उम्र 22 वर्ष है। आपको बता दें, 6 जनवरी 2023 के दिन युवक बाइक पर जा रहा था। सामने से आ रहे ट्रक से टकराया और ट्रक इसके पैर को कुचलता हुआ आगे बढ़ गया। जिससे डीकेंद्र के दोनों पैर गंभीर रूप से घायल हो गये थे, फिर डीकेंद्र को जल्दी से सरकारी अस्पताल ले जाया गया। वहां जाने के बाद वहा के विशेषज्ञो ने प्राथमिक इलाज दिया और हायर सेंटर, रायपुर में भेज दिया, वहां जाने के बाद वहां के विशेषज्ञो ने मरीज का सामान्य ड्रेसिंग करके घर भेज दिया उसके बाद डीकेंद्र एक हफ्ता तक घर में रहा, जब पैरों से बदबू आने लगी, तो मरीज को फिर से सरकारी अस्पताल ले जाया गया, वहा जाने पर डॉक्टरों ने कहा कि मरीज का पैर काटना होगा।

वहाँ से परामर्श के बाद वे लोग 13 जनवरी को मरीज को पावर हाउस स्थित, एसबीएस अस्पताल में लाया गया, वहां डॉक्टर ने चेक किया तो बताया की मरीज के पैरों में गैंगरीन हो गया है। इस वजह से उसके पैरों से बदबू आ रही थी, फिर मरीज के पैरो के गैंगरीन को ठीक किया और हड्डी रोग विशेषज्ञ से परामर्श कर के उसके पैरों को नॉर्मल किया, एसबीएस हॉस्पिटल में मरीज़ का डॉपलर टेस्ट किया गया, जिससे यह पता लगा कि मरीज़ के पैरों में सिर्फ 10% प्रतिशत ही खून का दौरा हो रहा है।

यह जानने के बाद मरीज़ को आईसीयू में रखा गया और उसका इलाज किया गया, लगभग 15 दिन तक आईसीयू में रहने के बाद मरीज़ की हालत में सुधार दिखायी देना शुरू हुआ, डॉक्टर बताते हैं कि उसके पैरों में अत्याधिक गहरे घाव थे जिस वजह से उसके पैरों को सही सलामत बचा पाना मुश्किल था। मगर एसबीएस के डॉक्टर ने बहुत ही सावधानी से मरीज़ के पैरों को बचा लिया, जहां दूसरे अस्पताल में बताया गया था कि मरीज के पैर को काटना होगा वही एसबीएस के डॉक्टरों ने ठीक कर दिखाया।

मरीज के पैर के अंगूठे का सिर्फ एक छोटा सा हिस्सा काटना पड़ा बाकी पुरा पैर बचा लिया गया मरीज बेहद खुश हुआ, सारी परेशानियों को हल करने के बाद आखिरी में एसबीएस के विशेषज्ञयों ने प्लास्टिक सर्जन को बुलाकर मरीज की प्लास्टिक सर्जरी भी करवायी और अब मरीज बिलकुल स्वस्थ है और वह खुद अपने पैरों पर चलकर अपने घर गया। मरीज (डीकेंद्र) का सारा इलाज का खर्चा आयुष्मान भारत योजना के तहत किया गया।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

12 नक्सली ढेर: एंटी नक्सल यूनिट C 60 ने...

रायपुर। छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र सीमा पर सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच हुए मुठभेड़ में बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने 12 नक्सलियों को मार...

CM साय ने की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह...

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने आज केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से उनके निवास पर मुलाकात की। इस महत्वपूर्ण बैठक में मुख्यमंत्री...

फाइनेंस मिनिस्टर ओ.पी. चौधरी ने किया संस्कृति बोध माला...

रायपुर। वित्त मंत्री ओ. पी. चौधरी आज यहां रोहिणीपुरम में विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान से सम्बद्ध सरस्वती शिक्षा संस्थान छत्तीसगढ़ रायपुर में...

BSP में हादसों को रोकने दिया जा रहा सुरक्षा...

दुर्ग। कलेक्टर ऋचा प्रकाश चौधरी के निर्देशानुसार जिले के भिलाई इस्पात संयंत्र के अंतर्गत संचालित विभिन्न कारखानों में कार्यरत नियमित एवं ठेका श्रमिकों को...

ट्रेंडिंग