छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस के मरीज मिले: रायपुर और दुर्ग में एक्टिव केस ज्यादा… स्वास्थ्य विभाग ने जारी की गाइडलाइन; नए वैरिएंट से अलर्ट रहने की जरूरत!

रायपुर, दुर्ग। देश में एक बार फिर से कोरोना के मामले सामने आने लगे है। छत्तीसगढ़ में इसका असर देखने को मिल रहा है। शनिवार को प्रदेश में 3 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले है। रायपुर में 2 और दुर्ग में 1 पॉजिटिव केस सामने आया है। वर्तमान में प्रदेश में कोरोना वायरस के 8 सक्रीय केस है। दो दिन पहले स्वास्थ्य विभाग ने सभी जिलों को मिलाकर 1499 लोगों की जांच कराई थी। जिसमें से 3 कोरोना पॉजिटिव मिले है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी दर 0.20% है। आपको बता दें स्वास्थ्य विभाग ने सभी स्वास्थ्य केंद्रों में कोविड की जांच शुरू कर दी है। कोविड से निपटने के लिए शुक्रवार मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने सभी कलेक्टर और CMHO की बैठक लेकर जरूरी दिशा निर्देश भी दिए थे।

इन 4 जिलाें में एक्टिव केस

जिला कोरोना पॉजिटिव केस
रायपुर – 4
दुर्ग – 2
बिलासपुर – 1
कांकेर -1

कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से पर्याप्त व्यवस्था की गई है। रायपुर के CHMO डॉ. मिथिलेश चौधरी ने बताया अस्पतालों में सर्दी, खांसी, बुखार के लक्षण वाले मरीजों की जांच हो रही है। अगर कोई पॉजिटिव केस मिल रहा है, तो उसकी जीनोम सीक्वेंसिंग करने के लिए सैम्पल रायपुर AIIMS भेजा जा रहा है। कोरोना संक्रमण से निपटने के जिले में पर्याप्त व्यवस्था है। ऑक्सीजन की पर्याप्त सप्लाई जिले में उपलब्ध है। ऑक्सीजन बेड के साथ कंसंट्रेटर सिलेंडर, ऑक्सीजन प्लांट वर्किंग स्थिति में है।

सीएमएचओ डॉक्टर मिथिलेश चौधरी ने कहा कि लोगों को डरने की जरूरत नहीं है। अगर उन्हें सर्दी, खांसी बुखार के लक्षण आते हैं तो वह स्वास्थ्य केंद्र में जाकर जांच करवाए, और अपना इलाज करवाए । सर्दी खांसी बुखार या कोरोना से संबंधित कुछ लक्षण नजर आते हैं तो अपने नजदीकी जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जाकर जांच करवा सकते हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी हेल्थ सेंटर में कोरोना संक्रमण की जांच की व्यवस्था की गई है।

स्वास्थ्य विभाग ने जारी की गाइडलाइन

छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य विभाग ने गाइडलाइन भी जारी की है। विभाग की ओर से सभी कलेक्टर को आदेश जारी किया गया है। इसमें कहा गया है कि, कोविड-19 संक्रमण नियंत्रण में है, लेकिन इसके लगातार बदलते वैरिएंट पर नजर रखना जरूरी है। केरल सहित देश के कुछ राज्यों में कोरोना के केस बढ़े हैं। हालांकि छत्तीसगढ़ में नए वैरिएंट की पहचान नहीं हुई है, लेकिन सावधानी बरतने की जरूरत है। नए साल और त्योहार को देखते हुए कोविड संक्रमण को रोकने के लिए जिला अस्पताल और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में दवाओं की उपलब्धता की जांच की जाए। हर जिले में कोविड की पर्याप्त संख्या में जांच की जाए। कम से कम 100 टेस्ट हर दिन होने चाहिए। हो सके तो सभी RT-PCR विधि से किए जाएं। कोविड पॉजिटिव पाए जाने पर इसके जीनोम सीक्वेंसिंग जांच के लिए सैंपल रायपुर एम्स भेजे जाएं। जिससे नए वैरिएंट की पहचान की जा सके।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

दुर्ग में PM आवास योजना के घटक मोर मकान-मोर...

दुर्ग। दुर्ग निगम क्षेत्र में प्रधानमंत्री आवास योजना के घटक मोर मकान-मोर आस अंतर्गत पात्र/अपात्र की सूची तैयारी किया गया है। आपत्ति दावा प्रकाशन...

टाउनशिप में अवैध कब्जेधारियों के खिलाफ बिग एक्शन: पुलिस...

भिलाई। सेल के भिलाई इस्पात संयंत्र के नगर सेवाएं विभाग के प्रवर्तन अनुभाग द्वारा लगातार अवैध कब्जेधारियों के खिलाफ बेदखली की कार्रवाई की जा...

चिटफंड के फ्रॉड डायरेक्टर्स के खिलाफ होगी ताबड़तोड़ कार्रवाई:...

दुर्ग। दुर्ग रेंज के इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (IGP) रामगोपाल गर्ग (IPS) ने सोमवार को एक महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता की, जिसमें चिटफंड के...

CM विष्णु देव की अच्छी पहल: छत्तीसगढ़ की पबिया,...

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने भारत सरकार को छत्तीसगढ़ की पबिया, पविया, पवीया जाति को ST की सूची में पाव जाति...

ट्रेंडिंग