Maharani 3: सियासी जंग के बीच रानी के बदले की रोमांचक कहानी, वेबसीरीज में अभिनय से धमाल मचा रहे मानवेन्द्र त्रिपाठी

डेस्क। मानवेन्द्र त्रिपाठी इन दिनों फिल्मी दुनिया के चहेतों के बीच सूर्खियां बटोर रहे हैं। बिहार पर आधारित वेब सिरीज महारानी 3 में उनके बेहतरीन अभिनय और अदाकारी ने लोगों को दीवाना बना दिया है। मानवेन्द्र महारानी 3 में इंस्पेक्टर धरम की भूमिका में नजर आए हैं।

बता दें कि मानवेन्द्र इंटर की पढ़ाई के दौरान ही थिएटर से जुड़कर नाटक व अभिनय करने लगे। उन्होंने सन् 2000 से 2007 तक थिएटर से जुड़कर खुद को खूब तराशा। मानवेन्द्र ने फिल्मी दुनिया में पहचान बनाने के लिए 12 साल तक निरंतर संघर्ष किया। इस दौरान उन्होंने बिहार आर्ट थिएटर के साथ काम किया, अक्षरा नाट्य संगठन बनाया, तिरीक्ष जैसे नाटक में अभिनय किया।

महारानी सीजन 3 में धरम सहाय की भूमिका में मानवेन्द्र त्रिपाठी के अभिनय ने निश्चित रूप से लोगों का ध्यान आकर्षित किया है, उनका शानदार प्रदर्शन इस किरदार को नयी ऊँचाईयों तक ले गया है, जिससे धर्म सहाय इस वेब सीरीज़ में एक महत्वपूर्ण चरित्र के रूप में सामने आया है।

तीसरे एपिसोड में मानवेन्द्र त्रिपाठी,धर्म सहाय की भूमिका में दिखायी पड़ते हैं और दर्शकों का ध्यान खींच ले जाते हैं। मिश्रा जी से गोलीकांड से संबंधित पूछताछ इतना गंभीर है जिसे वे सहजता से निभा ले जाते है और दर्शक यहीं से हर बार उनके स्क्रीन पर आने के लिए उत्सुक हो जाते हैं। उनके अभिनय की खूबसूरती को दर्शक संजोकर रखना चाहता है।

मानवेन्द्र त्रिपाठी के अभिनय का एक सबसे आकर्षक पहलू यह है कि वह अपने बोल-चाल और इशारों के माध्यम से चरित्र की ताक़त को रेखांकित करते हैं। चाहे वह विरोधियों का सामना कर रहे हों या रानी भारती के नेटवर्क को नष्ट करने की योजना बना रहे हों, त्रिपाठी के प्रदर्शन में शक्ति और दृढ़ता का एहसास होता है जो वास्तव में देखने योग्य है।

SIT क्राइम ब्रांच ऑफिसर के रूप में, धरम सहाय “महारानी” सीज़न 3 में बुने गए गुप्त रहस्यों और साज़िशों के जटिल जाल को सुलझाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। मानवेन्द्र त्रिपाठी अपने किरदार को गहराई और विश्वसनीयता प्रदान करते हैं, उसे एक समर्पित और बुद्धिमान जांचकर्ता के रूप में प्रस्तुत करते हैं जो ना ही सच्चाई का सामना करने से हिचकिचाता है, और ना ही अपने स्वयं के विचारों पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करने से।

मुख्यमंत्री नवीन कुमार के प्रति अपनी निष्ठा के बावजूद, धरम सहाय की नैतिक सीमा कुछ अस्पष्ट है, जो त्रिपाठी के प्रदर्शन में रोचक गतिविधियों को जोड़ता है। अपने अभिनय में, त्रिपाठी धरम सहाय के आंतरिक संघर्ष को सही ढंग से उतारते हैं, जब वह नैतिकता और वफादारी के सवालों के साथ जूझते हैं।

मानवेन्द्र त्रिपाठी की अभिनेता के रूप में यात्रा उनके जुझारूपन और शानदार प्रयासों को दर्शाती है। राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय नयी दिल्ली से उत्तीर्ण, थियेटर की पृष्ठभूमि वाले, त्रिपाठी का अभिनेता के रूप में विकास उनकी चरित्रों को अदा करने की अद्भुत प्रतिभा से स्पष्ट होता है।

“Emergency” ,”फिर आई हसीन दिलरुबा” और मुनुरेन,जैसी उनकी आने वाले फ़िल्में हैं जो उनके अभिनय की विविधता और रेंज को और भी अच्छे से दर्शकों के सामने लाने का वायदा करती हैं

खबरें और भी हैं...
संबंधित

15 अप्रैल को नामांकन भरेंगे दुर्ग लोकसभा प्रत्याशी राजेंद्र...

दुर्ग। 7 मई को होने जा रहे मतदान के लिए दुर्ग लोकसभा के कांग्रेस प्रत्याशी राजेंद्र साहू कल यानी 15 अप्रैल को अपना नामांकन...

कांग्रेस की आमसभा के दौरान PM मोदी के खिलाफ...

बिलासपुर। मस्तूरी क्षेत्र के भदौरा में कांग्रेस के एनएसयूआइ के राष्ट्रीय प्रभारी व राष्ट्रीय प्रवक्ता कन्हैया कुमार की सभा के बाद मीडिया से चर्चा...

दुर्ग में डायल 112 पर बदमाशों का हमला: अकेले...

दुर्ग। दुर्ग में पुलिस के ऊपर हमला करने वाले चार आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़े है। चारों के खिलाफ धारा IPC की धारा 294,...

CG – पत्नी का था अफेयर, गुस्से में पति...

पत्नी का था अफेयर, गुस्से में पति ने प्रेमी को दी दर्दनाक मौत क्राइम डेस्क। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में एक युवक की हत्या का...

ट्रेंडिंग