BSP लगातार हादसे के बाद प्रबंधन ने यूनियन नेताओं के साथ किया मंथन…क्या-कुछ तय हुआ, पढ़िए खबर

भिलाई। सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र ने संयंत्र में सुरक्षा तंत्र को सुदृढ़ करने के लिए तथा हादसों के रोकथाम के लिए डायरेक्टर इंचार्ज सभागार में विभिन्न श्रमिक संघों तथा बीएसपी ऑफिसर्स एसोसिएशन के प्रमुख पदाधिकारियों से सारगर्भित चर्चा की। इस बैठक में संयंत्र के निदेशक प्रभारी, अनिर्बान दासगुप्ता, कार्यपालक निदेशक (कार्मिक एवं प्रशासन), केके सिंह, कार्यपालक निदेशक (वर्क्स) अंजनी कुमार एवं मुख्य महाप्रबंधक प्रभारी (कार्मिक) सुश्री निशा सोनी, महाप्रबंधक (आई आर एवं ठेका श्रमिक प्रकोष्ठ) जे एन ठाकुर एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।
इसके साथ ही इस बैठक में ऑफिसर्स एसोसिएशन से एनके बंछोर व परविंदर सिंह, सेल-एससीएसटी फेडरेशन की ओर से सुनील रामटेके, इंटक से संजय साहू व पूरन वर्मा, सीटू से सुश्री सविता मालवीय एवं एसपी डे, बीएमएस के अध्यक्ष आई पी मिश्रा एवं रविशंकर सिंह, इस्पात श्रमिक मंच से राजेश अग्रवाल व शेख महमूद, बीएसपी वकर्स यूनियन से उज्जवल दत्ता एवं खूबचंद वर्मा तथा एटक से विनोद सोनी विशेष रूप से मौजूद थे।

संयंत्र के निदेशक प्रभारी, अनिर्बान दासगुप्ता ने बैठक में अपनी बात रखते हुए सर्वप्रथम संयंत्र द्वारा सुरक्षा सुनिष्चित करने हेतु किये जा रहे समग्र प्रयासों की जानकारी दी। साथ ही उन्होंने कहा कि कार्मिकों की सुरक्षा हमारे लिए हमेशा से सर्वोपरि है। वर्तमान परिस्थितियों में हम अपने प्रयासों को और सुदृढ़ करना चाहते है।

उन्होंने संयंत्र के सुरक्षा तंत्र को और सुदृढ़ करने हेतु सभी को मिलकर काम करने का आव्हान किया। उन्होंने कहा कि संयंत्र प्रबंधन सुरक्षा को बेहतर करने हेतु निरंतर प्रयासरत है। हम अपने प्रयासों को यूनियन तथा ओए के साथ मिलकर और अधिक सुदृढ़ करना चाहते है। जिससे संयंत्र में दुर्घटनाओं को रोका जा सके। समय-समय पर आप सभी अपने सुझाव से हमें अवगत कराते रहे हैं। वर्तमान परिस्थितियों में आप सभी से सहयोग अपेक्षित है। हम सब मिलकर संयंत्र में एक सुरक्षित कार्य-वातावरण बनायेंगे। जिससे संयंत्र के सुरक्षा को एक नयी दिशा प्राप्त हो।

उपस्थित यूनियन व ओए के पदाधिकारियों ने संयंत्र के सुरक्षा तंत्र को बेहतर बनाने तथा सुदृढ़ करने हेतु अपने-अपने सुझाव रखें। जिससे संयंत्र के दुर्घटनाओं पर लगाम लगाया जा सके। उपस्थित सभी पदाधिकारियों ने प्रबंधन के इस संयुक्त प्रयास की प्रशंसा करते हुए सुरक्षा को सुदृढ़ करने हेतु विभिन्न सुझाव साझा किये। इन सुझावों में जहां ठेका श्रमिकों के सुरक्षा प्रशिक्षण को और अधिक व्यावहारिक बनाने का सुझाव दिया गया वहीं हाॅट शाॅप व विभिन्न उत्पादन मिलों आदि में विशेष प्रशिक्षण देने का आग्रह किया गया। इसके साथ ही दुर्घटनाओं के मूल कारण का विश्लेषण कर वास्तविक कारणों को दूर करने हेतु त्वरित कदम उठाने का भी सुझाव दिया गया। इसके अतिरिक्त कार्यस्थल के संयुक्त निरीक्षण की भी चर्चा की गई। इसके साथ ही संयुक्त सुरक्षा समिति के निर्माण का भी सुझाव दिया गया। सभी ने एक स्वर में कहा कि अगर सुरक्षा जैसे महत्वपूर्ण विषय पर हम मिलकर काम करेंगे तो निश्चित ही हमें बेहतर परिणाम देखने को मिलेंगे।

इस बैठक में उपस्थित सभी यूनियन व आॅफिसर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने सुरक्षा को सुदृढ़ करने में अपना सम्पूर्ण सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

छत्तीसगढ़ में बॉयफ़्रेंड ने अपने दोस्तों से करवाया गर्लफ़्रेंड...

जशपुर। जशपुर में प्यार नाम के शब्द को शर्मसार करने वाला घिनौना मामला सामने आया हैं। दरहसल एक प्रेमी ने ही अपनी प्रेमिका का...

गजब मामला: एक ही बच्चे का दो अलग-अलग बर्थ...

भिलाई। नगर पालिक निगम भिलाई में संचालित आधार कार्ड सेंटर में आज एक मामला सामने आया है। दरहसल गोकुल कुमार कुशवाहा अपने बच्चे का...

सड़क पर पानी बहाना पड़ा महंगा: लोगों के शिकायत...

दुर्ग। दुर्ग में सुमित बाजार द्वारा सड़क पर पानी का बर्बादी करना महंगा पड़ गया। नगर पालिक निगम सीमा क्षेत्र अंतर्गत सुमीत बाजार परिसर...

बारिश से पहले भिलाई में नाली-नालों की सफाई: जल...

भिलाई। भिलाई में बारिश के मौसम में कहीं भी जल भराव ना हो इसके लिए युद्ध स्तर पर सफाई अभियान चल रहा है। इसी...

ट्रेंडिंग