भिलाई में श्री राधे कृष्णा देवभूमि ट्रस्ट के महिला संगठन ने मनाया अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस… रजनी विजय बघेल और विनीता मनीष पांडेय रही चीफ गेस्ट

भिलाई। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर श्री राधे कृष्णा देवभूमि ट्रस्ट के महिला संगठन “जय माता दी” समूह द्वारा विभिन्न क्षेत्र में उत्कृष्ट महिलाओं के लिए “महिला सम्मान समारोह” का कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रजनी विजय बघेल एवं विनीता मनीष पांडेय थी। कार्यक्रम का आयोजन सुमिता दत्ता ने किया। इस अवसर पर कार्यक्रम के प्रारंभ में संबोधित करते हुए श्री राधे कृष्णा देवभूमि ट्रस्ट के महिला शाखा “जय माता दी ” की प्रमुख सुमित दत्ता ने कहा कि, श्री राधे कृष्णा देवभूमि ट्रस्ट की महिला शाखा जय माता दी समूह द्वारा महिलाओं को जोड़कर उन्हें सामाजिक एवं राष्ट्रवादी कार्यों से जोड़ा जा रहा है। महिला दिवस पूरे विश्व में 1909 से मनाया जाता है अमेरिका के कपड़ों कारखाने में काम करने वाले 15000 महिलाओं ने 8 मार्च के दिन ही अपने काम के समय और वेतन की मांग को लेकर एक विशाल आंदोलन किया था। उसी दिन को स्मरण कर ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर महिला दिवस का आयोजन किया जाता है। उन्होंने कहा कि, यह एकमात्र ऐसा आयोजन है जिसमें हर वर्ष इस का उद्देश्य या थीम को परिवर्तन किया जाता है तथा और इस वर्ष 2024 का थीम है  “महिलाओं में निवेश ही आर्थिक प्रगति में तेजी लाना है” एक बहुत अच्छे उद्देश्य से इस बार का महिला दिवस मनाया जा रहा है। इस उद्देश्य की पूर्ति करने से महिलाओं में आर्थिक सशक्तिकरण आएगा। महिलाएं स्वालंबी बनेंगे।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रजनी विजय बघेल ने कहा की देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी यही मिशन है कि देश के महिलाओं को स्वावलंबी और आत्म निर्भर बनाना इसीलिए देश के प्रधानमंत्री कई सारी ऐसी योजनाओ को लाए है जिसके तहत महिलाओं अपना व्यवसाय प्रारंभ कर सके और स्वालम्बी बन सके। देश की महिलाए जब आत्मनिर्भर होगी तभी देश आर्थिक रूप से समर्थ होगा। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि विनीता पांडे ने कहा की महिलाए परिवार और देश की रीढ़ की हड्डी होती है जिस परिवार में महिलाएं आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर होती है वही परिवार विकास की मुख्य धारा में आगे आता है। जिस देश में महिलाएं आत्मनिर्भर होती है वही देश दुनिया में विकसित राष्ट्र बन पाता है। अब कोई भी ऐसा क्षेत्र नहीं बचा जिसमें महिलाओं ने अपनी ताकत ना दिखाया हो अब महिलाएं ट्रेन भी चला रही है और फाइटर प्लेन भी चल रही है। अब महिलाएं युद्ध भी कर रही है और खेत में फसल भी ऊगा रही है। अब महिलाएं ने विश्व पटल पर अपना बराबरी का स्थान बना लिया है इसलिए अब महिला सशक्तिकरण के साथ ही महिलाओं को आर्थिक रूप से आगे बढ़ाने की दिशा में काम करने की ज्यादा जरूरत है। इस वर्ष महिला दिवस का ये हो उद्देश्य है।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से श्रंखला यादव की मां ममता यादव को महिला शक्ति के उप में सम्मान किया गया। जिन्होंने अपने बेटी श्रंखला यादव के अमनवीय रूप से लिए गए हत्या के बाद अपराधी को जेल तक पहुंचाने कानूनी लड़ाई लड़ी और सामाजिक रूप से भी जागृति लाई और अपराधियों को सजा दिलाया।तथा पत्रकारिता क्षेत्र में अपने निर्भीक योगदान के लिए अनुभूति ठाकुर, कोमल का सम्मान किया गया। समाज कल्याण के लिए सतत अपने योगदान देने के लिए सरोज चौबे का सम्मन किया गया। शिक्षा के क्षेत्र से दिप्ती ठाकुर, कुमारी गीतिका यादव, कुमारी समृद्धि पांडे जिन्होंने बिना कोचिंग के एक ही बार में नीट की परीक्षा पास किया और संदेश दिया की शिक्षा के लिए कोचिंग नही लक्ष्य के प्रति लगन और आत्मविश्वास चाहिए। इनका भी सम्मान किया गया। तथा विभिन्न क्षेत्र से 50 महिलाओं का सम्मान किया गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. भावना जायसवाल ने किया। कार्यक्रम में सैकड़ों महिलाएं मुख्य अतिथि रजनी विजय बघेल और विनीता पांडे के सामने नारी शक्ति को को संगठित कर देश और समाज की सेवा और नाश मुक्ति के लिए शपथ ग्रहण किया।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

बिलासपुर लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी तोखन साहू ने भरा...

डेस्क। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय बिलासपुर पहुंचे। सीएम साय बिलासपुर लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी तोखन साहू के नामांकन में शामिल हुए।...

मतदान में हर पल पर रहेगी पैनी नजर: CEO...

रायपुर। लोकसभा निर्वाचन 2024 अंतर्गत प्रदेश में प्रथम चरण में बस्तर लोकसभा क्षेत्र में हो रहे मतदान की पल-पल की गतिविधियों पर नजर रखने...

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को तगड़ा झटका: बस्तर में वोटिंग...

रायपुर। छत्तीसगढ़ में बस्तर में वोटिंग के एक दिन पहले कांग्रेस को तगड़ा झटका लगा है। भारतीय जनता पार्टी की रीति-नीति से प्रभावित होकर...

अनोखी पहल: रायपुर जिले के सात विधानसभा के एक-एक...

रायपुर। आगामी लोकसभा चुनाव-2024 में जिले के सभी विधानसभा के एक-एक बूथ दिव्यांग कर्मचारी संभालंेगे। जिनमें पीठासीन अधिकारी सहित पी-01, पी-02 एवं पी-03 सभी...

ट्रेंडिंग