बड़ा अपडेट: रेस्क्यू टीम को दिखा राहुल, थोड़ी देर में खत्म हो जाएगा ऑपरेशन…CMO ने Tweet कर दी राहत देने वाली खबर

जांजगीर में राहुल साहू के रेस्क्यू ऑपरेशन को बड़ा अपडेट है। सीएमओ छत्तीसगढ़ की ओर से ट्वीट किया गया है। जिसमें बताया गया है कि, राहुल के रेस्क्यू ऑपरेशन के अंतिम चरण के खत्म होने का समय आ गया है। जांजगीर से सूचना मिल रही है कि चट्टानों को हटाने के बाद अब बचावदल बोरवेल तक पहुंच गया है और राहुल नज़र आने लगा है।

सीएमओ छत्तीसगढ़ से हुए इस ट्वीट ने सबको राहत की सांस दी है। क्योंकि, राहुल के रेस्क्यू में भले ही देरी हो रही हो लेकिन ऑपरेशन सफल हो। ये बड़ी बात है। कहा जा रहा है कि अब से कुछ देर में राहुल बाहर आ जाएगा।

ग्राउंड जीरो से खबरें आ रही है उसके मुताबिक, स्ट्रेचर नीचे सुरंग में ले जाया गया होल मिल गया है। डॉक्टर भी नीचे गए हैं। साथ में ऑक्सीजन भी पहुंचाया गया है। निकालने की कार्यवाही चल रही है। टनल में राहुल की सफाई की जा रही है।

जांजगीर के कलेक्टर जीतेंद्र शुक्ला ने कहा है कि टीम 60 फीट नीचे फंसे राहुल तक टनल के जरिए पहुंच गई है। रेस्क्यू टीम को राहुल दिख रहा है और जल्दी ही उसे बाहर लाया जाएगा। उसको बचाने का प्रयास अभी तक सेना के निर्देश पर NDRF कर रही थी, लेकिन अब जवानों ने कमान अपने हाथ में ले ली है।

NDRF को वहां से हटाकर अब सेना के जवान टनल में उतरे हैं। उनके साथ फोल्डेबल स्ट्रेचर, ऑक्सीजन सिलेंडर समेत कुछ और आपातकालीन उपकरण हैं। ऐसा माना जा रहा है कि जल्दी ही राहुल बाहर आ सकता है। जांजगीर कलेक्टर जीतेंद्र शुक्ला ने भास्कर को बताया कि राहुल की स्थिति ठीक है। उसका मूवमेंट कम है, लेकिन वह इशारे कर रहा है।

सेना की ओर से बताया गया है कि NDRF जवानों को आराम देने के लिए जवानों ने कमान संभाली है। यह एक ज्वाइंट ऑपरेशन है और इसमें ऐसा ही किया जाता है। उन्होंने बताया कि अभी भी राहुल को बचाने में 3 से 4 घंटे या उससे ज्यादा लग सकते हैं। सवाल यहां बच्चे की जिंदगी का है, ऐसे में चट्‌टान तोड़ने के लिए सख्त रुख नहीं अपना सकते।

राहुल की लोकेशन का अंदाजा लगाकर अब चट्टान तोड़ने के बाद सेना के जवान हाथों से मिट्टी निकाल रहे हैं और आगे बढ़ रहे हैं। उधर बाहर भारी भीड़ जमा हो गई है। राहुल के पास पहुंचने की सूचना मिलने पर बिलासपुर आईजी रतनलाल डांगी समेत कई आला अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए हैं।

एहतियातन जांजगीर से बिलासपुर अपोलो अस्पताल तक ग्रीन कॉरीडोर बनाकर रखा गया है, जिससे राहुल को बाहर आते ही तत्काल एंबुलेंस के जरिए अपोलो तक ले जाया जा सके।

राहुल तक पहुंचने के लिए टनल बनाने के काम में लगे NDRF के कमांड इन चीफ वर्धमान मिश्रा चोटिल हो गए हैं। डॉक्टर ने मौके पर उनका उपचार किया और वे फिर से काम में लग गए हैं। वर्धमान मिश्रा के ऊपर ही ऑपरेशन की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि काम किसी हालत में रुकना नहीं चाहिए।

वहीं दूसरी ओर राहुल के नजदीक अब NDRF की टीम पहुंचती जा रही है। महज 2 से ढाई फीट की दूरी रह गई है। उसे बाहर निकालने के लिए खुदाई का एंगल थोड़ा बदला गया है। जिससे उसे चोट न लगे। बल्ली ले जाकर एक स्ट्रक्चर खड़ा किया जा रहा है। इसके साथ ही वाइब्रेटर से राहुल के नीचे के पत्थर को चिकना बनाया जा रहा है। जिससे उसको बाहर निकालने के दौरान चोट न लगे।

खबरें और भी हैं...
संबंधित

भिलाई निवासी राजकुमारी जैन का निधन, परिजनों ने उनकी...

भिलाई। भिलाई के ओल्ड नेहरू नगर निवासी राजकुमारी जैन धर्मपत्नी स्व. डॉ ज्ञानचंद जैन का निधन गुरुवार 23 मई को हो गया। उनका अंतिम...

रायपुर में 15 साल की लड़की से युवक ने...

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में 15 साल की नाबालिग बच्ची से बलात्कार का मामला सामने आया है। एक युवक ने नाबालिग लड़की से...

छत्तीसगढ़ शासन द्वारा “राइट टू तो एजुकेशन” के तहत...

रायपुर। छत्तीसगढ़ लोक शिक्षण संचालनालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार निःशुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम (आरटीई) अंतर्गत वर्ष 2022-23 में निजी विद्यालयों...

शराब भट्टी में लगा धक्का तो कर दिया जानलेवा...

भिलाई। शहर में अलग-अलग दारू भट्टी में आए दिन विवाद के मामले सामने आते हैं ताजा मामला सुपेला थाना क्षेत्र के देशी दारू भट्टी...

ट्रेंडिंग